कलम

धारा के ख़िलाफ़ बहने की ज़िद.

पहली बार हरियाणा में चुनाव लड़ी रही स्‍वराज इंडिया ने वैकल्‍पिक राजनीति की नींव डाली है. दमखम के साथ लड़ रही है. ईमानपत्र जारी कर …
Read more About धारा के ख़िलाफ़ बहने की ज़िद.

गांधी सुमिरन- और कितने जीएंगे गांधी?

आज मोहनदास कर्मचंद गाँधी १५० बरस के हो गए. कितना सुंदर है कि इनकी उम्र इतनी लम्बी है. लेकिन कितनी? कितने बचे रह गए हैं …
Read more About गांधी सुमिरन- और कितने जीएंगे गांधी?

कुमार श्‍याम की झूठी एवं भ्रामक ख़बरों के खिलाफ यात्रा

पिछले सालों से सोशल मीडिया की सक्रियता की वज़ह से झूठी एवं भ्रामक ख़बरों का विस्‍तार काफ़ी व्‍यापक हो चुका है। इस काम में न …
Read more About कुमार श्‍याम की झूठी एवं भ्रामक ख़बरों के खिलाफ यात्रा

ब्लैक होल अपडेटेड इट्स प्रोफ़ाइल पिक्चर!

बीते कल तक “ब्लैक होल” के फ़ेसबुक पेज पर उसकी अपनी कोई तस्वीर नहीं थी! अगर कोई आपसे पूछे कि 10 अप्रैल 2019 और 11 …
Read more About ब्लैक होल अपडेटेड इट्स प्रोफ़ाइल पिक्चर!

विवाह एक सांस्थानिक वेश्यावृत्ति है !

मेरे इस आप्तवाक्य पर उससे कहीं अधिक उपद्रव हो चुका है, जितना कि होना चाहिए! मालूम होता है कि फ़ेसबुक मित्र इस एक कथन से …
Read more About विवाह एक सांस्थानिक वेश्यावृत्ति है !

सपना के साथ ऐसा क्‍या हुआ?

कल से सपना चौधरी के कांग्रेस में शामिल होने की ख़बरें आ रही हैं। अनेक तस्‍वीरें भी हैं। बाक़ायदा ज्‍वॉइनिंग-फॉर्म भी सार्वजनिक है। और कांग्रेस …
Read more About सपना के साथ ऐसा क्‍या हुआ?

‘प्रसून’ कभी नहीं मुरझा सकता !

पुण्‍य प्रसून बाजपेयी जी को फिर टीवी चैनल से बेदख़ल कर दिया गया है। आज तक से इस्‍तीफ़ा हुआ। फिर एबीपी न्‍यूज़ से निकाला गया, …
Read more About ‘प्रसून’ कभी नहीं मुरझा सकता !

क्‍या विपक्ष द्वारा मीडिया का बहिष्‍कार करना सही है?

यह प्रश्‍न सभी के ख्‍़याल में होगा। इसके पीछे का द्वंद्व यह है कि यदि विपक्ष इस पागल हो चुकी मीडिया को तिलांजलि देता है …
Read more About क्‍या विपक्ष द्वारा मीडिया का बहिष्‍कार करना सही है?

देश काग़ज़ पर बना नक़्शा नहीं होता- सर्वेश्‍वरदयाल सक्‍सेना

सुनें सर्वेश्‍वरदयाल सक्‍सेना की कविता- देश काग़ज़ पर बना नक्‍़शा नहीं होता ! https://youtu.be/vPG03XzVfPk
Read more About देश काग़ज़ पर बना नक़्शा नहीं होता- सर्वेश्‍वरदयाल सक्‍सेना

पुलवामा के वो सवाल, जो सोने नहीं देते !

पिछले तीन-चार दिनों से भीतर एक अज़ीब तरह की उधेड़बुन चल रही है। पुलवामा का हादसा न चाहते हुए भी छाती पर पांव धरे खड़ा …
Read more About पुलवामा के वो सवाल, जो सोने नहीं देते !