क्‍या आप भी यूट्यूबर बनना चाहते हैं?

क्‍या आप एक यूट्यूबर बनना चाहते हैं?

यह सवाल इसलिए पूछ रहा हूं क्‍योंकि यही सवाल मुझसे सर्वाधिक पूछा जाता है, क्‍या यूट्यूब पर पेशेवर काम करना सुरक्षित है? क्‍या मैं यूट्यूब को एक कॅरिअर के रूप में ले सकता हूं? इस तरह के सवालों से मेरा इनबॉक्‍स भरा रहता है और मुझसे अंतिम जवाब मांगा जाता है। इस लेख के माध्‍यम से कुछ बातें कहना चाहता हूं जो मैंने यूट्यूब पर काम करते हुए अनुभव की है, सीखी है। हो सकता है इन बातों में जिज्ञासु बंधुओं के महत्‍व का कुछ हो।

यह तो सर्वविदित है कि आने वाला समय तकनीक का ही होने वाला है। आप यदि कहीं कोई नौकरी भी करेंगे तो भी वहां आपको तकनीकी ज्ञान और कौशल की आवश्‍यकता पड़ेगी। दुनिया इंटरनेट पर विस्‍थापित हो रही है। पिछले दो बरसों में अभूतपूर्व बदलाव देखा गया है। इसलिए भविष्‍य इंटरनेट ही है। राजनीति, साहित्‍य, विचार, मंथन से लेकर विद्यालयी कक्षाएं तक इंटरनेट पर आ गई है। शायद ही कुछ बचा हो जो इससे अछूता रहा हो। यहीं पर सीखाया जा रहा है और यहीं से सीखा जा रहा है। इसलिए यह स्‍पष्‍टरूप से कहा जा सकता है कि हां, इंटरनेट पर काम करना सुरक्षित, दुरगामी और हितकारी है। लेकिन महत्‍वपूर्ण है आप काम कैसे और कहां करते हैं?

इंटरनेट की व्‍यापक दुनिया में एक मंच है- यूट्यूब। यूट्यूब पर सबकुछ है। पैसा भी, शोहरत भी। बड़ी संख्‍या में दर्शक। लेकिन पिछले दो बरसों में यूट्यूब पर भी बहुत बदलाव आया है। विशाल प्रतिस्‍पर्द्धा कायम हो गई है। हर क्षेत्र के यूट्यूब चैनल्स की भरमार है। हर कोई यूट्यूबर बनना चाहता है या बन रहा है। घर बैठे काम और ज़ेब में सुलभ दौलत। निश्‍चित ही युवाओं में यह लोभ होगा ही।

मेरा मानना है कि यूट्यूब पर प्रतिस्‍पर्द्धा बहुत बढ़ गई है। इसे देखते हुए यूट्यूब भी अपने नियम-क़ायदों में दिन-ब-दिन बदलाव कर रहा है। कठिन परीक्षाएं निर्धारित कर रहा है। नवसीखिए यूट्यूबर्स के लिए उनसे पार पाना शुरूआत में बहुत मुश्‍किल होता है। यदि सिर्फ़ रूपए कमाने की ज़ल्‍दबाजी है तो मेरा मत है कि आप यूट्यूब पर टिक नहीं पाएंगे। मुझे 16 माह तक फूटी कौड़ी तक नहीं मिली थी। जबकि मैंने अपना यूट्यूब चैनल 2017 के मध्‍य में शुरू किया था। हालांकि मैं मानता हूं कि ज़रूरी नहीं कि इतना ही वक्‍त लगे। लेकिन जो सूत्र है, वो यह कि धैर्य के साथ वीडियो अपलोड करते जाएं। फल की चिंता मत करें।

यूट्यूब को एज़ ए कॅरिअर लिया जा सकता है। लेकिन जब तक यूट्यूब चैनल स्‍थापित न हों जाए, तब तक पढ़ाई मत छोड़ें और अपने अन्‍य विकल्‍पों को भी जारी रखें। जब लगे कि यूट्यूब पर जम गए हैं तो सभी काम छोड़कर यूट्यूब पर आश्रित हो सकते हैं। लेकिन फिर भी जीवन में कमाई के सभी रास्‍ते बंद नहीं करने चाहिए। इस दुनिया में कुछ भी स्‍थाई नहीं है। सरकारी नौकरी भी नहीं। इसलिए जो है, उसे करते हुए यूट्यूब पर काम जारी रखा जा सकता है।

यूट्यूब चैनल शुरू करने से पहले ईमानदारी से सोचें कि आप क्‍या करने जा रहे हैं। आपको यहां एक क्षेत्र का चयन करना होगा। अपने चैनल की विषय-वस्‍तु तय करनी होगी। और उसी तरह का कटेंट बनाना होगा। ऐसा नहीं चलेगा कि आप राजनीतिक टिप्‍पणियां करते हैं लेकिन बीच-बीच में कॉमेडी वीडियो भी डाल रहे हैं, जब मन आया गाने भी अपलोड करने लग गए। इस तरह से यूट्यूब चैनल नहीं चल पाएगा। धीरे-धीरे रीच कम हो जाएगी। आप जिस काम को दुनिया के सामने बेहतर ढंग से कर सकते हैं, वही करें। और साथ ही, यूट्यूब पर मौजूद सामग्री से कुछ अलग करें। तब ऑडियंस स्‍वीकारेगी और यूट्यूब की दुनिया में प्रगति करेंगे।

बिना ठोस रूपरेखा, दृढ़ इच्‍छा और धैर्य के बिना यहां टिक पाना बेहद मुश्‍किल है। यदि काम चलाऊ काम करना है, फिर तो किया ही जा सकता है। लेकिन जिस उद्देश्‍य से यहां आए हैं, वो पूरा नहीं होगा। बहुत से साथी हैं, जिन्‍होंने चैनल शुरू किया लेकिन दस-पंद्रह या दो-चार वीडियो अपलोड करके हार गए और सांस भरकर बोले कि व्‍यूज़ ही नहीं आ रहे। कुछ नहीं हो रहा। यानी लोग आपकी प्रतीक्षा में ही बैठे हों जैसे कि कब आपका अवतरण और देखें। करोड़ों लोग आपकी तरह वीडियोज़ बना रहे हैं, उनमें से एक आप हैं। इसके बावजूद खुद को दुनिया के सामने पेश करना है। उनसे बेहतर करना है। तब दुनिया देखेगी और सौ-दो सौ व्‍यूज़ हज़ारों में, फिर लाखों में जाएंगे।

यदि आप बेहद चंचल और अस्‍थिर मनोवृति के हैं तो शायद आप यूट्यूब पर काम न कर पाएं। क्‍योंकि लोग बहुत शानदार काम कर रहे हैं और सालों से कर रहे हैं। आप अगर दो दिन में बुलंदी छूना चाहें तो यह बहुत ज़ल्‍दबाजी है।

अंत में, मैं स्‍पष्‍ट कहता हूं कि यूट्यूब संभावनाओं का संसार है। यहां कॅरिअर, काम, पैसा, शोहरत और सपने पूरे होने की तमाम गुंज़ाइशें हैं। लेकिन कड़ी परीक्षा भी है। इससे गुजर गए तो पास। लेकिन डुलमुल हुए तो फेल। यूट्यूब पर आने के बाद भी बहुत कुछ सीखना पड़ता है जो यूट्यूब का अपना एक व्‍याकरण है। वो तो बाद की बात है। लेकिन पहले अपने मोबाइल से सहज वीडियो बनाए जाना ज़रूरी है। तभी यहां कॅरिअर और भविष्‍य सुरक्षित है। जबकि यूट्यूब बहुत सहज और सरल माध्‍यम हैं। बस युक्‍ति पकड़नी है।

यह तो एक सामान्‍य राय थी। आगे मैं इस पोर्टल के माध्‍यम से यूट्यूब पर काम करना सीखाऊंगा। कैसे यहां धीरे-धीरे बढ़ा जा सकता है। ख़रगोश नहीं, कछुआ चाल से।            

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *