व्‍यंग्‍य

Photo : Raj K Raj, Hindustan Times

जैसे पहली लहर आई थी और चली गई थी, यह भी आकर जाएगी

गए साल अक्टूबर में कोरोना का ग्राफ़ गिरने के बाद जब मित्रों ने समारोहपूर्वक मास्क का परित्याग कर दिया, तो मैं दो मास्क लगाने लगा। …
Read more About जैसे पहली लहर आई थी और चली गई थी, यह भी आकर जाएगी

‘भगवा वस्‍त्र’ आदित्‍यनाथ का फ़रेब है और ‘योगी’ होना स्‍वांग!

कितना ही स्‍वांग रच लें। मगर किसी असावधान क्षण में वो स्‍वांग टूट जाता है और स्‍वाभाविक रूप जग को दिख ही जाता है। अब …
Read more About ‘भगवा वस्‍त्र’ आदित्‍यनाथ का फ़रेब है और ‘योगी’ होना स्‍वांग!