राकेश टिकैत पर हमला, राहुल गांधी का संघ पर निशाना

किसान नेता राकेश टिकैत कल राजस्‍थान के अलवर में थे। लेकिन उनके साथ कुछ ऐसा हो गया, जिसके बाद देश की सियासत तेज़ हो गई है। राकेश टिकैत के काफिले पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया। उनमें सबसे अधिक नाम जो उभर कर आया, वो है छात्रनेता कुलदीप यादव। राकेश टिकैत ने आरोप लगाया कि हमला करने वाले भाजपा के गुण्‍डे हैं। उसके बाद सोशल मीडिया पर कुलदीप यादव की तस्‍वीरें वायरल होने लगीं जिनमें वो भाजपा नेताओं के साथ दिख रहा है तथा यह भी कहा जा रहा है कि कुलदीप यादव भाजपा के छात्रसंघ संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का सदस्‍य है। इस हमले में राकेश टिकैत की गाड़ी के शीशे तोड़ दिए गए और उन पर स्‍याही फेंकी गई। एक वीडियो भी उस घटना का सर्कुलेट हो रहा है, जिसमें राकेश टिकैत मुर्दाबाद के नारे लगाए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आरोपी कुलदीप यादव के बीजेपी से जुड़े होने का आरोप लगाया है. उन्होंने शनिवार को ट्वीट कर दावा किया कि बीजेपी के लोगों ने राकेश टिकैत पर हमला किया. दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. वहीं, राकेश टिकैत ने भी अपने काफिल पर हुए हमले को लेकर बीजेपी पर आरोप लगाया है.

न्‍यूज़ 18 के मुताबिक एक फेसबुक पोस्ट में छात्रसंघ कार्यालय के उदघाटन के आमंत्रण पत्र की तस्वीरें भी वायरल हो रही हैं जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में तस्वीर के साथ कांग्रेस के नेता आर.सी यादव का नाम है। अगर इन तस्वीरों पर यकीन करें तो हमले के आरोपी कुलदीप यादव का संबंध कांग्रेस से है। हालांकि सोशल मीडिया पर कुछ और तस्वीरें भी वायरल हो रही हैं जिसमें यह दावा किया जा रहा है कि फरवरी 2020 में कुलदीप ने यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ का एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. इसमें बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया को बुलाया गया था।


रिपोर्ट कहती है कि वायरल तस्वीरो में कुलदीप यादव के साथ राजस्थान बीजेपी के अध्यक्ष सतीश पूनिया, एबीवीपी के प्रांतीय मंत्री होशियार मीणा और अलवर से बीजेपी के सासंद बाबा बालकनाथ नजर आ रहे हें. इन तस्वीरों में कुलदीप के गले में एबीवीपी का दुपट्टा नजर आ रहा है। हालांकि कुछ समय बाद फर्जी डिग्री मामले में घिरने के बाद कुलदीप को छात्रसंघ अध्यक्ष पद से इस्तीफा देना पड़ा था।


इसके अलावा राकेश टिकैत पर हमले से कुछ देर पहले कुलदीप यादव की एक फेसबुक पोस्ट वायरल हो रही है जिसमें राकेश टिकैत को संबोधित कर लिखा गया है कि हम राकेश टिकैत का विरोध कर रहे हैं। टिकैत उस कांग्रेस का समर्थन क्यों कर रहे हैं जिसने 10 दिन में कर्ज माफी का अपना वादा नहीं निभाया। बाजरे की समर्थन मूल्य पर खरीद नहीं कर रही राजस्थान में कांग्रेस सरकार।

राकेश टिकैत पर इस हमले की किसान नेता योगेंद्र यादव ने भी निंदा की। वहीं राहुल गांधी ने ट्वीट कर संघ की विचारधारा पर निशाना साधा एवं तीन कृषि क़ानूनों को ख़ारिज़ करवाकर ही रहेंगे का वायदा किया।

अत: कहा जा सकता है कि जिस तरह से किसान आंदोलन उत्‍तरोतर बढ़ रहा है वैसे-वैसे सत्‍ता पक्ष के खेमे में खलबली मची है। कुलदीप यादव ने भी अपनी फ़ेसबुक पोस्‍ट में ठीक वही तर्क दिए जो महीनों से गोदी मीडिया और सरकार समर्थित लोग दे रहे हैं। यह हमला सिर्फ़ अपनी राजनीतिक छवि चमकाने एवं राकेश टिकैत के बहाने लाइमलाइट में आने की कोशिश है। ख़बर है कि राजस्‍थान पुलिस ने क़रीब 16 लोगों को गिरफ़्तार कर लिया है।

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *